Search

प्यार एक एहसास है, जिसे सिर्फ़ महसूस किया जा सकता है



प्यार वो एहसास है, जो हमारे सिने में दिल होने की पुष्टि करता है और इस बात की भी पुष्टि करता है कि मै भी एक इंसान हूँ. प्यार एक दुआ की तरह है, जो कबूल हो जाये तो वरदान है और जो न कबूल हो तो ज़िन्दगी भर पिया जाने वाला एक ज़हर है.

वैसे हमें इंतज़ार सिर्फ उसी का रहता है, जिस पर हमारा हक़ होता है. ऐसा नहीं होता है कि हमने उससे पहले कोई खूबसूरत चेहरा न देखा हो, लेकिन फिर भी दिल न जाने क्यों उसी एक शख्स पर आकर रुक जाता है? क्यों तमन्नाओं की उड़ान अचानक और ज्यादा बढ़ जाती है? क्यों दूर-दूर रहकर भी हमेशा साथ रहते है? क्यों बिना बातों के भी होंठो पर मुस्कान आ जाती है?

कहते है कि दुनिया में जिस किसी ने भी सच्चा प्यार किया और वो मिल न सके तो इस दुनिया से ऊपर भी एक दुनिया है, जहाँ वो कभी जुदा ही नहीं हो सकते. प्रेम बहुत ही छोटा शब्द है, मगर उसका अर्थ उतना ही महान है.

लेकिन आज के समय में लोगों ने प्यार की परिभाषा को बदल दिया है, प्यार उनके लिए एक खेल मात्र होकर रह गया है. उन्हें प्यार के महत्व को समझना चाहिए, प्यार करने वाले शख़्स के जज्बात को समझना चाहिए, प्यार की ताकत को समझना चाहिए और धैर्य रखकर सच्चा प्यार करने वाले शख़्स का साथ निभाना चाहिए.

आज की तेज रफ्तार से दौड़ती जिन्दगी में व्यक्ति जब एक-दूसरे को पीछे धकेलते हुए आगे बढ़ने की होड़ में संवेदनाओं को खोता चला जा रहा है और रिश्तों एवं एहसासों से दूर, संपन्नता में क्षणिक सुख खोजने के प्रयास में लगा रहता है. वैसे जहां प्यार बैंक-बैलेंस और स्थायित्व देखकर किया जाता है, वहां सच्ची मोहब्बत, पहली नजर का प्यार और प्यार में पागलपन जैसी बातें बेमानी लगती हैं. लेकिन प्रेम शाश्वत है. प्रेम सोच-समझकर की जाने वाली चीज नहीं है. कोई कितना भी सोचे, यदि उसे सच्चा प्रेम हो गया तो उसके लिए दुनिया की हर चीज गौण हो जाती है. प्रेम की अनुभूति विलक्षण है. प्यार कब हो जाता है, पता ही नहीं चलता. हमें इसका एहसास तो तब होता है, जब मन सदैव किसी का सामीप्य चाहने लगता है. ये मन उसकी एक मुस्कुराहट पर खिल उठता है और उसके दर्द से तड़पने भी लगता है. ये मन बिना किसी प्रतिदान की आशा के उस पर सर्वस्व समर्पित करना चाहता है.

कोई आपसे इतना प्यार करता है कि इस अहसास में जीने का एक अलग ही मजा है. मजा इस बात में है कि आप उसे जरा सा याद करोगे और वो दौड़ा चला आएगा, मजा है कि आपको खरोंच भी आएगी तो वो घबराकर मरहम लगाएगा, मजा है कि ऐसे ही मजाक में आप कराह भी दोगे तो उसका प्यार भरा स्पर्श आपको अंदर तक छू जाएगा, मजा इसमें भी है कि आप जब भी बन संवर कर उससे मिलने आओ तो वो आप में अपनी मोहब्बत खोजता रहेगा और आप उसकी आखों से टपकती मोहब्बत को हर अदा और हर लफ्ज में महसूस कर लेंगे.

अगर प्यार में अभिव्यक्ति के बिना इतना मजा है तो भला कोई क्यों अपने प्यार की अभिव्यक्ति करने लगा. अंत में इतना ही कहूँगा कि प्यार एक एहसास हैं, जिसे सिर्फ महसूस किया जा सकता है. सिर्फ किसी को पा लेने का नाम प्यार नहीं है, कुछ खोने को भी प्यार कहते है.


(अर्जुन महर दिल्ली विश्वविद्यालय में लॉ के स्टूडेंट है और वामपंथी छात्र संगठन AISA से जुड़े हुए है. साथ में दो किताबें भी लिख चुके है.)

https://www.twitter.com/Arjun_Mehar

https://www.facebook.com/ArjunMeharOfficial

https://www.instagram.com/arjun_mehar

https://www.youtube.com/ArjunMehar




150 views
 

©2020 by Arjun Mehar.